राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी, भारतराष्ट्रीय न्यायिक अकादमी, भारत, Logo
परिकल्पना विवरण संस्था अध्यक्ष रा. न्या. अ. को मार्गदर्शन देने वाले उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश रा. न्या. अ. के प्रबंध मंडलों के सदस्य निदेशक अपर निदेशक (अतिरिक्त निदेशक) रजिस्ट्रार (पंजीयक) संकाय प्रशासन रा. न्या. अ. का चार्टर वार्षिक प्रतिवेदन
चर्चा का स्थान प्रश्न NJA's Programmes Home Page वेब स्ट्रीमिंग निर्णय पर
रा. न्या. अ. के कार्यक्रम राज्य न्या. अ. के कार्यक्रम राष्ट्रीय न्यायिक शिक्षा रणनीति सम्मेलन वीडियो
उच्चतम न्यायालय के मामले साइट्स जिनका उपयोग आप कर सकते हैं ज्ञान साझा करना
शोध प्रकाशन / पत्रिकाएँ पठन सामग्री
शोधार्थी
संकाय

    श्री योगेश प्रताप सिंह

     

     

     

     

     

    श्री योगेश प्रताप सिंह

    योगेश प्रताप सिंह राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी से वर्ष 2015 में जुड़े। उन्होंने अपना बी.ए. एल.एल.बी (आनर्स) चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय पटना से वर्ष 2011 में पूर्ण किया। अकादमी से जुड़ने के पूर्व उन्होंने शोध सहायक के रूप में भारत के सर्वोच्य न्यायालय में कार्य किया। उन्होने मध्यप्रदेश के माननीय उच्च न्यायालय के समक्ष भी वकालत की।

    उन्होंने कारपोरेट पुनर्संरचना, भारत में सरोगेसी अनुबंध , जाँच आयोग अधिनियम इत्यादि से संबंधित मामलों पर लेख प्रकाशित किए हैं। उन्हें राष्ट्रीय स्तर की कई मूट कोर्ट प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ शोधकर्ता, सर्वश्रेष्ठ वक्ता, सर्वश्रेष्ठ मेमोरियल और तृतीय सर्वश्रेष्ठ दल के पुरस्कारों से पुरस्कृत किया गया। योगेश के पास एन.जी.ओं. सर्वोच्य न्यायालय के वरिष्ठ अधिवकता और सुविख्यात विधि फर्मों के साथ विस्तृत इन्टर्नशिप के अनुभव हैं।